हम हैं लोकल
भावनाओं की भव्यता को आयुष्मान करता:आयुष गोरखपुर। "मत पूछ क्या जादू चला मुझपे तेरी तस्वीर का अब हर जुबान पर है फसाना बस तेरी तासीर का नज़रें, मनभावन 'नज़रिये' से करें अब गुफ़्तगू धीरे धीरे फ़लसफ़ा होता बयां तामीर का।" संगतराश का काम पत्थरों में जान डालना होता है। चित्रकार अपनी कूच…
Image
हम हैं लोकल:5
फैशनडिजाइनिंग की नई दिशा:दीपशिखा     आनंद सिंह 'मनभावन'    गोरखपुर।   "हौसलों को पंख दें,और हुनर को परवाज़ दें गांव की मिट्टी से शहरों को नया अंदाज़ दें बहुमुखी प्रतिभा किसे कहते हैं मनभावन सुनो, शिखा दीपक की अंधेरों को सदा आवाज़ दे।"   युवाओं का दौर है।नया भारत मल्टीट…
Image
शासनादेश की मार,कर्मचारी लाचार
गोरखपुर    विद्युत  विभाग के कर्मचारी  अब भुखमरी के कगार पर है।निगम के आदेश के बावजूद इनको लॉक- डाउन की स्थिति में जहां तहां फँस जाने की वजह से तथा उसी स्थान पर एकांतवास करने के कारण विभाग द्वारा उन्हें अनुपस्थित मानकर उनके वेतन का भुगतान नही किया जा रहा।         ऐसे कर्मचारी जो जिले के  बाहर के ह…
गोहरिया करे 'अंजल हो....!
गोरखपुर।"दुनिया पर आइल बा अफतिया, कोरोना के विपतिया न हो.....गोहरिया करे 'अंजल' हो......" कोरोना जैसी भयानक महामारी से जागरूकता के ये गीत जब करुण रस में उनके सुरीले कंठ से फूटते हैं तो ऐसा लगता है मानो साक्षात रागिनियाँ मूर्तिमान हो उठी हों। यकीन मानिए सिर्फ यही नही,गीत,ग़ज़ल…
Image
तराई से पहाड़ी तक की आवाज हम भारत है
सुरेश चौधरी गोरखपुर। इतिहास परिदृश्य से नहीं परिप्रेक्ष्य से बनाये जाते हैं।कुछ ऐसा ही करने का जुनून लिए एक बेहद संस्कारी और सभ्रांत व्यापारी परिवार का लड़का जब अपने परिवार के परंपरागत और स्थापित मान्यताओं से अलग करने की सोचता है तो परिणाम इतने अप्रत्याशित और सुखद होंगे खुद उसे भी इसका यकीन …
Image
ऑनलाइन शिक्षा 5:नेपथ्य के प्रश्न, पक्ष-प्रतिपक्ष,विसंगतियां
रिपोर्ट-आनंद सिंह 'मनभावन ' गोरखपुर। विकल्प को संकल्प बनाने वाली पद्धति की इस कड़ी को हम अदृश्य दावों और मूर्छित वादों की तुला पर देखने का प्रयास करेंगे।विश्लेषणके इस भाग में हम अभिभावक, अध्यापक,प्रबंधन,और विद्यार्थियों रूपी चारों खम्भों पर टिकी विद्यालयों की शिक्षा,नैतिकता,और संस्कार के…
Image